Flash Newsउत्तर प्रदेशन्यूज़लखनऊ

अटल बिहारी वाजपेयी पर रखा जाएगा यमुना एक्सप्रेस-वे का नाम, जेवर एयरपोर्ट के शिलान्यास पर पीएम मोदी करेंगे ऐलान- रिपोर्ट

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में यमुना एक्सप्रेस-वे (Yamuna Expressway) का नाम पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Vihari Vajpayee) के नाम पर रखा जा सकता है. दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 नवंबर को गौतम बौद्ध नगर जिले के जेवर में नोएडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट (Jewar Ariport) का शिलान्यास करेंगे और खबर है कि इस दौरान प्रधानमंत्री यमुना एक्सप्रेस-वे का नाम बदलने का ऐलान कर सकते हैं.

इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के अलावा यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा के शीर्ष नेता मौजूद रहेंगे.इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने नाम न प्रताशित करने की शर्त पर कहा, ‘यह फैसला (एक्सप्रेसवे का नाम बदलने का) भारत के सबसे पसंदीदा राजनेता को सम्मान देने के लिए लिया गया है.

अटल बिहारी वाजपेयी का सभी पार्टी के नेता में सम्मान करते हैं और एक्सप्रेस-वे का नाम बदलना आने वाली पीढ़ियों को उनकी महानता की याद दिलाएगा.’यमुना एक्सप्रेस-वे पर बनने वाले जेवर एयरपोर्ट सीएम योगी आदित्यनाथ की एक प्रमुख बुनियादी ढांचा परियोजना है. माना जा रहा है कि अगले साल की शुरुआत में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी सरकार इस परियोजना के सहारे अपने विकास के रोडमैप का प्रचार करेगी.

जेवर एयरपोर्ट होगा यूपी में पांचवां अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा

उधर उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को दावा किया कि राज्य में अब पांचवा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनने जा रहा है. लखनऊ में जारी एक बयान में यूपी सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि 25 नवंबर को निर्धारित नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के शिलान्यास के साथ, राज्य अब पांच अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे बनाने की राह पर है.

राज्य में 2012 तक केवल दो अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे थे, जब लखनऊ के बाद वाराणसी को यह गौरव प्राप्त हुआ था. 20 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उद्घाटन के बाद कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा शुरू हुआ, जबकि अयोध्या में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का काम प्रगति पर है जहां हवाई सेवाएं अगले साल की शुरुआत में शुरू होने की उम्मीद है.

पांचवा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में नोएडा के पास जेवर में बनना है. नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का निर्माण पूरा होने के बाद यह देश का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा. इस हवाई अड्डे के पहले चरण में सालाना 1.2 करोड़ यात्रियों की सेवा करने की क्षमता होगी और इसे 36 महीनों में पूरा किया जाना है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button