Flash Newsन्यूज़राज्य

What is IFSC Code: IFSC कोड क्या होता, इसकी क्यों पड़ती है ज़रूरत, डिटेल में समझें

What is IFSC Code जब आप बैंक अकाउंट से किसी के बैंक अकाउंट Bank Account में पैसे भेजते होंगे, तो नाम, अकाउंट नम्बर के अलावा एक चीज़ की ज़रूरत पड़ती ही होगी और वो है IFSC कोड.

जैसे ही ये कॉलम भरना होता होगा, और याद न होने की स्थिति में आप ये तो गूगल करते होंगे या किसी से पूछते होंगे. आखिर ये IFSC क्या होता है, इसकी ज़रूरत क्यों पड़ती है.

ये इतना ज़रूरी क्यों होता है कि इसके बिना आप पैसे अकाउंट से ट्रांसफर नहीं कर सकते. आज हम आपको इन सवालों के जवाब देने जा रहे हैं.

और IFSC अलग अलग शब्दों से बना शॉर्ट फॉर्म है. IFSC का पूरा नाम यानी फुल फॉर्म Indian Financial System Code इंडियन फाइनेंसियल सिस्टम कोड होती है. IFSC कोड 11 डिजिट का एक अल्फान्यूमेरिक कोड होता है.

जिस तरह से आधार कार्ड लोगों की पहचान बन गया है, उसी तरह से बैंकों की पहचान IFSC कोड होता है.
दरअसल, हर बैंक की हर शाखा के लिए एक यूनिक कोड दिया जाता है.

और IFSC हर बैंक और हर शाखा का यूनिक कोड होता है. जिस बैंक में अकाउंट होगा. बैंक की उसी ब्रांच का IFSC डाला जाता है. IFSC से बैंक समझ जाती है कि पैसा किस ब्रांच में भेजा गया है.

IFSC का फायदा ये है कि गलती होने की सम्भावना कम होती है. अगर आपने IFSC कोड गलत डाला होगा तो किसी भी हाल में बैंक में पैसा ट्रांसफर नहीं होगा. अगर आप NEFT, RTGS और IMPS से पैसा भेजते हैं तो इसकी ज़रूरत पड़ती ही है.

11 डिजिट के इस कोड में अंग्रेजी के अक्षर भी शामिल होते हैं. RBI इसे अप्रूव करता है. जैसे अगर HDFC बैंक का IFSC कोड आपको चाहिए तो इसकी शुरुआत HDFC000 से होगी.

इसके आगे चार अंक और होंगे. इसी तरह अगर स्टेट बैंक का IFSC चाहिए होगा, तो इसकी शुरुआत SBIN000 से होगी. इसमें भी चार अंक और जुड़ेंगे. यानी कुल मिलाकर ये 11 अंकों और अक्षरों से मिलकर बना होता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button