सबकी खबर.. सब पर नजर

PM Kisan: आने वाली है इस स्कीम की आठवीं किस्त, इस तरह मिनटों में देख सकते हैं स्टेटस

0 128
नई दिल्ली (Agency)। केंद्र सरकार आने वाले कुछ दिनों में किसी भी वक्त प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम (PM Kisan Samman Nidhi Scheme) की आठवीं किस्त किसानों के बैंक खातों में ट्रांसफर कर सकती है। अगर आप भी पीएम किसान स्कीम के लाभार्थी हैं, तो बेसब्री से इस स्कीम की आठवीं किस्त का इंतजार कर रहे होंगे। इस किस्त के तहत भी आपके खाते में दो हजार रुपये की रकम आएगी। सरकार द्वारा पीएम किसान की आठवीं किस्त भेजे जाने के बाद आप मिनटों में स्टेटस चेक कर पाएंगे। यह प्रक्रिया बहुत आसान है और इसके लिए आपको किसी तरह की मशक्कत करने की जरूरत नहीं होती है।

इस तरह चेक कर सकते हैं स्टेटस

पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट https://pmkisan.gov.in/ पर लॉग इन कीजिए।
यहां ‘Farmers Corner’ पर जाइए।
इस टैब के अंतर्गत आपको ‘Beneficiary Status’ का ऑप्शन मिलेगा।
‘Beneficiary Status’ के ऑप्शन पर क्लिक कीजिए।
अब आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
इस पेज पर आधार नंबर, अकाउंट नंबर, मोबाइल नंबर में से किसी एक विकल्प को चुनिए।
आपने जिस नंबर को सेलेक्ट किया है, वह नंबर प्रविष्ट करिए।
इसके बाद ‘Get Data’ पर क्लिक कीजिए।
अगर आपके द्वारा प्रविष्ट की गई जानकारी सही पायी जाती है तो आपके सामने सभी संबंधित विवरण आ जाएंगे। इनमें किसान का नाम, मोबाइल नंबर, आधार नंबर, राज्य, जिला, गांव का नाम, अकाउंट नंबर के आखिरी चार अंक, आईएफएससी कोड, रजिस्ट्रेशन नंबर, रजिस्ट्रेशन की तारीख और इस बात की जानकारी सामने आ जाएगी कि आधार नंबर वेरिफाइड है या नहीं।
इसके बाद हर किस्त की पूरी जानकारी आ जाएगी। इसमें किस्तवार भुगतान की स्थिति, बैंक का नाम, अकाउंट नंबर के आखिरी तीन अंक, पैसे क्रेडिट होने की तारीख, यूटीआर नंबर जैसी जानकारियां शामिल हैं। अगर किसी वजह से ट्रांजेक्शन सफल नहीं रहता है तो इस चीज की जानकारी भी आपको यहां मिल जाएगी। इसके अलावा FTO अगर पेंडिंग रहता है तो उसकी वजह भी आपको वहां पता चल जाएगी।
अगर आपको आठवीं किस्त किसी वजह से नहीं मिलती है तो आप पीएम किसान स्कीम के हेल्पलाइन नंबर (PM Kisan Scheme Helpline Number) के जरिए इस बाबत जानकारी हासिल कर सकते हैं। यहां तक कि पीएम किसान की वेबसाइट के जरिए शिकायत भी दर्ज करा सकते हैं।
Banner index Sidebar – 160 x 670

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More