सबकी खबर.. सब पर नजर

जेल में बंद गैंगस्टर की गर्लफ्रेंड ‘गर्ल्स हॉस्टल’ से चला रही थी अपराध का धंधा, स्टाइल ऐसा कि पुलिस भी खा गई चकमा

0 322
शार्प शूटर गैंगस्टर “ब्यॉयफ्रेंड” जब खुद जेल गया तो उसने गैंग की कमान गर्लफ्रेंड के हवाले कर दी. गैंगस्टर को जेल में भेजकर पुलिस समझ रही थी कि शहर में अब शांति हो गई. हांलांकि, गैंगस्टर के जेल जाने के बाद शहर में दिल दहला देने वाली घटनाएं और ज्यादा बढ़ गईं. पुलिस ने इसके पीछे जब माथापच्ची शुरू की तो पता चला कि जेल भेज दिए गए गैंगस्टर प्रेमी से ज्यादा घातक तो उसकी बाहर बची रह गई गर्लफ्रेंड है. जो पलक झपकते शिकार को घेरकर “हलाक” और “हलाल” कर डालने में माहिर है. पुलिस ने जब अपना खुफिया तंत्र जगाया तो पता चला कि जेल में बंद शहर के कुख्यात शूटर-गैंगस्टर की गर्लफ्रेंड तो गर्ल्स हास्टल के अंदर छिपी हुई है.
ये किसी फिल्म की स्क्रिप्ट नहीं है. रूह कंपा देने वाला ये सच है झारखंड राज्य की राजधानी रांची जिला मुख्यालय का. रांची पुलिस द्वारा गैंगस्टर की गर्लफ्रेंड की गिरफ्तारी की पुष्टि रांची के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) सुरेंद्र कुमार झा ने मंगलवार को टीवी9 भारतवर्ष से की. उन्होंने कहा, “गिरफ्तार महिला गैंगस्टर का नाम प्रियंका कुमार सिंह उर्फ सृष्टि उर्फ खुश्बू है. ये लड़की अपने गैंगस्टर दोस्त महेश सुजीत सिन्हा के जेल जाने के बाद से ही एक्टिव थी. सुजीत के जेल जाने के बाद से रांची शहर और उसके आसपास के इलाके में रंगदारी वसूली का पूरा काला-कारोबार यही संभाल रही थी.”
एसएसपी रांची के मुताबिक, “चूंकि एक लड़की आमजनों, व्यापारियों को धमका रही थी. उनसे रंगदारी वसूलने की कोशिश करती थी. इसलिए पहली बार में तो लोगों को उसकी धमकी किसी सिरफिरी महिला या लड़की की मजाकिया हरकत लगती थी.” थाना रातू पुलिस के मुताबिक (इसी थाना पुलिस ने महिला गैंगस्टर को दबोचा है), महिला के पास से रांची के कई बिल्डरों, रहीस बिजमैन के नाम पते, कॉन्टैक्ट नंबरों की लिस्ट भी मिली है. जिन्हें वो समय-समय पर रंगदारी देने के लिए धमकाती रहती थी या फिर इस लिस्ट में वे नाम शामिल हैं जो आज नहीं तो कल, इस खतरनाक महिला के निशाने पर आने वाले थे.

स्टूडेंट बनकर रांची के गर्ल्स हॉस्टल से संभाल रही थी कमान

एक सवाल के जबाब में एसएसपी रांची ने माना, “गैंगस्टर प्रेमी सुजीत सिन्हा के जेल जाने के बाद से गिरोह की कमान पूरी तरह इसी के हाथों में थी. गैंग में शामिल पुरुष बदमाशों से काम कराने की जिम्मेदारी भी इसी की थी.” थाना रातू पुलिस के अनुसार, “दरअसल ये गैंग हमारे रडार पर तभी से था, जबसे इस महिला बदमाश ने शहर के एक बड़े कारोबारी, जोकि पॉलिटिक्स में भी खासा हस्तक्षेप रखते हैं, को शिकार बनाने का षडयंत्र रचा था.” प्रियंका सिंह पर जब पुलिस ने शिकंजा कसा तो पता चला कि वो स्टूडेंट बनकर रांची के कडरु इलाके मे मौजूद एक गर्ल्स हॉस्टल में छिपकर गैंग की कमान संभाल रही है.
पुलिस ने छापा मारकर प्रिंयका सिंह को गिरफ्तार किया तो पूछताछ के दौरान उससे कई और भी महत्वपूर्ण जानकारियां हाथ लगीं. SHO रातू इंस्पेक्टर राजीव रंजन लाल के मुताबिक, “पता चला है कि बिगड़ैल गैंगस्टर प्रियंका सिंह ने अपने दोनो भाइयों विकास और अंकित को भी गैंग में शामिल कर रखा था. डाल्टनगंज स्थित कॉलेज से बीबीए पास महिला गैंगस्टर प्रियंका सिंह के निशाने पर अमूमन शहर के बिल्डर और कारोबारी होते थे. ये लोग खुद की जान महफूज रखने के लिए डर के मारे आसानी से इस गैंग के शिकंजे में फंस जाते थे. वे डरकर पुलिस के पास भी नहीं जाते थे और गैंग की डिमांड के हिसाब से उसके सदस्यों को “रंगदारी” की रकम पुलिस से चुपचाप पुहंचाना शुरू कर देते थे.

गैंगस्टर लव सिंह की हत्या में भी आया था प्रियंका का नाम

इस खतरनाक महिला गैंगस्टर से कई घंटे पूछताछ करने वाली टीम में शामिल रही एक महिला पुलिस अधिकारी के मुताबिक, “इस गैंग का रांची में इतना खौफ है कि पुलिस को अक्सर गैंग द्वारा वारदातों को अंजाम देने के बाद शिकायतकर्ता तक को तलाशना मुश्किल हो जाता है. ये महिला गैंगस्टर शिकार के आनाकानी करने पर उसे गोली से उड़ा देने की धमकी भी खुद ही देने में नहीं चूकती है. फिलहाल इस कुख्यात महिला के साथ गैंग के चार बदमाश गिरफ्तार किये गए हैं.”
एसएसपी रांची के मुताबिक, “कुछ समय पहले गैंगस्टर डब्ल्यू सिंह गैंग के बदमाश लव सिंह की हत्या हो गई थी. उस हत्या में भी प्रिंयका सिंह का नाम सामने आया था. कहा जाता है कि प्रिंयका सिंह ने लव सिंह को हनीट्रैप में लेकर मरवा डाला था. तब वो गिरफ्तार करके जेल भी भेजी गई थी. फिलहाल आरोपी महिला गैंगस्टर की गिरफ्तारी रातू थाने में दो-तीन दिन पहले दर्ज कराए गए एक मुकदमें में की गई है.”
रांची जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र कुमार झा के मुताबिक प्रियंका सिंह के साथ जिन अन्य बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है, उनका नाम विकास सिंह उर्फ छोटू, अंकित प्रताप सिंह उर्फ गोलू, जयप्रकाश सिंह उर्फ रिंकू सिंह है. ये सभी जेल में बंद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के गुर्गे हैं. इन दिनों वे प्रियंका सिंह के इशारे पर काम कर रहे थे. तमाम ऐसे सबूत भी पुलिस के हाथ लगे हैं जिससे साबित होता है कि प्रिंयका सिंह जेल में निरुद्ध गैंगस्टर और प्रेमी सुजीत सिन्हा के भी लगातार संपर्क में थी. वो अपने स्तर पर तो रांची में शिकार फंसाती ही थी. उसका प्रेमी जो शिकार बताता था उसे भी वो हलाक-हलाल करने में कहीं कोई कसर बाकी नहीं छोड़ती थी.
Banner index Sidebar – 160 x 670

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More