सबकी खबर.. सब पर नजर

बिलाल की प्रेमिका की बात सुनकर बिगड़े एसडीएम, बोले-शादी को तुमने खेल बना रखा, जानें पूरा मामला

0 182
यूपी के बरेली में पिछले साल अक्टूबर में दूसरे समुदाय की लड़की को भगा ले जाने का मामला एक बार फिर से सुर्खियों में हैं। लव जेहाद मामला बताकर इस पर काफी हंगामा भी हुआ था। थाने से लेकर सड़क पर विहिप कार्यकर्ताओं ने काफी हंगामा किया था। इसके बाद आरोपी को पकड़कर जेल भेजा गया। जेल गया आरोपी बिलाल अब बाहर आ चुका है। बिलाल के जेल से बाहर आने के बाद मामला फिर से सुर्खियों में आ गया है। दरअसल बिलाल ने जेल से बाहर आने के बाद अपनी प्रेमिका के साथ शादी करने के लिए एसडीएम कोर्ट में अर्जी दी थी।
प्रेमिका के घरवालों को उनकी शादी के आवेदन की भनक लगी तो एक बार फिर हंगामा हो गया। परिजनों ने एसडीएम से मामले में शादी का आवेदन निरस्त कराने की मांग की। जिस पर एसडीएम ने छात्रा को मोबाइल पर ही आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा कि शादी को खेल बना रखा है। कभी करना है, कभी नहीं करना। छात्रा को उसके मम्मी पापा के साथ एसडीएम ने अपने आफिस बुलाया।
प्रेमनगर निवासी बिलाल घोसी के खिलाफ 17 अक्टूबर को थाना किला में अपहरण, चोरी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने बिलाल और उसकी प्रेमिका छात्रा को राजस्थान के अजमेर जिले में दरगाह इलाके से एक होटल से बरामद किया था। 3.18 लाख चोरी का कैश बरामद होने और फर्जी आईडी का इस्तेमाल करने के आरोप में अपहरण के आरोपी बिलाल को 24 अक्टूबर को कोर्ट में पेश किया था। कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था।
छात्रा अपने परिवार के साथ चली गई थी। पिछले दिनों बिलाल घोसी जेल से छूटा। इसके बाद उसने छात्रा से संपर्क किया। दोनों में फिर मोबाइल पर बातचीत होने लगी। छात्रा बिलाल घोसी के साथ शादी का आवेदन करने के लिये एसडीएम आफिस पहुंची। जिस पर एसडीएम ने किला पुलिस को पत्र भेजकर मामले में एसएसपी के माध्यम से रिपोर्ट तलब की थी। शादी के आवेदन की बात बाहर आने पर फिर मामले में खलबली मच गई है।

शादी का आवेदन कैंसिल कराने के लिये दी अर्जी

छात्रा और उसके पिता ने बताया कि उन्होंने शादी के लिये आवेदन किया था, लेकिन आवेदन कैंसिल करने का भी प्रार्थना पत्र दे दिया था। इसके बाद छात्रा और उसके पिता ने एसडीएम से फोन पर बात की। एसडीएम ने छात्रा से कहा कि वह खुद बिलाल के साथ शादी का आवेदन करने के लिये प्रार्थना पत्र देने आई थी। अब वह कैंसिल कराने को कह रही है। शादी कोई खेल नहीं है। एसडीएम ने छात्रा को उसके परिवार वालों के साथ सोमवार को अपने आफिस बुलाया है।

हिन्दू संगठनों ने की किला थाने में बवाल और तोड़फोड़

17 अक्टूबर को किला के पंजाबपुरा इलाके से बीएससी की छात्रा लापता हो गई थी। इस मामले में छात्रा के पिता की ओर से थाना किला में बिलाल घोसी उसके दोस्त विशाल, उसकी पत्नी, शिवम शर्मा और बिलाल के परिवार वालों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया था। छात्रा की बरामदगी को लेकर और उसे लव जिहाद बताकर भाजपा के कुछ नेताओं व हिन्दू संगठनों से जुड़े लोगों ने थाने में हंगामा और तोड़फोड़ की थी। इस मामले में इंस्पेक्टर किला सतीश कुमार, चौकी इंचार्ज रजनीश कुमार और दो सिपाहियों को लाइन हाजिर किया गया।
Banner index Sidebar – 160 x 670

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More