भाजपा के बाहरी प्रत्याशी की अफवाह से गठबंधन खेमे में खुशी की लहर

0
381

⏺  सांसद और जिला संगठन की कार्यशैली से हताश, निराश हो चुके हंै कार्यकर्ता
⏺  पार्टी में रहकर विपक्षियों के लिए काम करने वाले चुनाव हराने की रच रहे हैं साजिश

(सूरज यादव)

अंबेडकरनगर। सांसद हरिओम पाण्डेय के क्रियाकलाप से पूरे लोकसभा के कार्यकर्ता निराश होकर घर बैठ गये हैं जिसका परिणाम है कि विगत 6 महीने से पार्टी द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में जनता की बात छोड़िए, कार्यकर्ता भी नदारत होने लगे है।

भारतीय जनता पार्टी ने सांसद हरिओम पाण्डेय का टिकट अभी भले न काटा हो परन्तु लोकसभा क्षेत्र के मतदाताओं ने विगत तीन वर्ष पहले ही उनका टिकट काट दिया हैं क्यों कि चाय, पान की दुकानों पर बैठकी के दौरान बर्बश यह चर्चा सुनने को मिल ही जाती है कि सांसद जीे का टिकट कट गया है.

जिसके कारण भाजपा में रहकर सपा, बसपा के लिए काम करने वाले भाजपाई जो सत्ता के साथ दिल बदलने में माहिर हैं उनके द्वारा आये दिन अफवाह फैलायी जाती है कि सीट गठबंधन में जा रही है, कभी यह अफवाह फैलायी जाती है कि बड़ा चेहरा यहां से चुनाव लड़ेगा, आये दिन लोक सभा क्षेत्र में उड़ रही अफवाहों से जहां बीजेपी समर्थक हताश है.

वहीं कार्यकर्ताओं में निराशा के साथ कुंठा व्याप्त होती जा रही हैं क्यों कि 2017 के विधान सभा चुनाव में लोकसभा की 5 सीटों में से 3 सीटों पर दल बदलू प्रत्याशी उतारे जाने से पार्टी की करारी हार से कार्यकर्ताओं का मनोबल टूट चुका है, रही सही कसर को सांसद हरिओम की कार्यशैली और जिला संगठन का ढर्रा पूरा कर रहा है,

ऐसे में नगर पालिका के चुनाव में पार्टी द्वारा अकबरपुर में विपक्षी पार्टियों द्वारा दिग्गज प्रत्याशी उतारे जाने के बाद भी भाजपा का कार्यकर्ता लड़ने के कारण पार्टी को शानदार सफलता मिली थी, इसको देखकर कार्यकर्ताओं में यह हौसला था कि पार्टी नेतृत्व विधान सभा के परिणाम से सबक लेगा.

हलांकि कार्यकर्ताओं को भरोसा भी है कि नेतृत्व 2019 के चुनाव के प्रति गंभीर है परन्तु भाजपा में रहकर दूसरे दलों के लिए कार्य करने वाले भाजपाइयों द्वारा बाहरीेे प्रत्याशी का ढिढोरा पीटे जाने से गठबंधन प्रत्याशी के खेमे में जश्न का माहौल सुनने को मिल रहा है।

ऐसे में समय रहते भाजपा ने मंथन कर स्थानीय कार्यकर्ता को प्रत्याशी नहीं उतारा तो परिणाम का राम ही मालिक होगा, इस प्रकार की जनचर्चा पूरे लोकसभा क्षेत्र में होने लगी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.