अपराधियों को मिल रहे पुलिस संरक्षण की खुली पोल, मथुरा के डॉक्टर अपहरण कांड में सीओ भी हटाए गए

0
238
  • -52 लाख की फिरोती के बाद चिकित्सक के छूटने का है मामला

  • -थाना हाइवे को पहले ही किया जा चुका है निलंबित

  • -आईजी रेंज आगरा ए. सतीश गणेश कर रहे हैं मामले की जांच

मथुरा।(Hindmorcha News )l अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाने से अपराध नहीं रूकता। अपराध रूकता है अपराधियों के संरक्षण को खत्म करने से, जब पुलिस ही अपराधियों को संरक्षण देने लगे तो अपराध कैसे रूकंे, मथुरा में अपराधियों को पुलिस संरक्षण का बेहद सनसनी खेज मामला इन दिनों छाया हुआ है। राधापुरम एस्टेट निवासी डॉ. निर्विकल्प अग्रवाल अपहरण कांड में गुरुवार को सीओ रिफाइनरी जगवीर सिंह भी हटा दिए गए। उन्हें फिलहाल पुलिस आफिस से संबद्ध किया गया है।
इससे पहले बुधवार को एसएसपी शलभ माथुर ने इसी मामले में हाईवे थाना प्रभारी इंस्पेक्टर जगदंबा सिंह को निलंबित कर दिया था। साथ ही डॉक्टर का अपहरण कर फिरौती मांगने के आरोप में चार अपराधियों पर मुकदमा भी कराया था। मामले में पुलिस की भूमिका संदिग्ध पाए जाने पर शासन ने जांच के आदेश दिए थे। आईजी रेंज आगरा ए. सतीश गणेश मामले की जांच कर रहे हैं। माना जा रहा है कि उनकी जांच के आधार पर ही यह कार्रवाई की गई है।

10 दिसम्बर 2019 को हुआ था हड्डी रोग विशेषज्ञ का अपहरण

हाईवे थाने में बुधवार को पुलिस की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे के मुताबिक 10 दिसंबर 2019 को हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. निर्विकल्प अग्रवाल का अज्ञात बदमाशों ने अपहरण कर 52 लाख रुपये की फिरौती वसूल की थी। राधापुरम एस्टेट निवासी डॉ. अग्रवाल ने पुलिस अधिकारियों को बताया कि वह महोली रोड स्थित अपने क्लीनिक भावना डायग्नोस्टिक सेंटर से कार से रात करीब 8 बजे अपने घर राधापुरम एस्टेट जा रहे थे। गोवर्धन चैराहा ओवर ब्रिज पर हथियारों के बल पर कार सहित अपहरण कर लिया। अपहरणकर्ता उन्हें लेकर दिल्ली हाईवे की ओर जा रहे थे। इसी दौरान बदमाशों ने डॉक्टर के मोबाइल से उनकी पत्नी को फोन करके 52 लाख रुपये की फिरौती मांगी।

एसएसपी भी पहुंचे थे मौके पर

सूचना मिलने पर एसएसपी शलभ माथुर, थाना हाईवे प्रभारी जगदंबा सिंह, सर्विलांस सेल प्रभारी इंस्पेक्टर जसवीर सिंह व एसओजी प्रभारी सब इंस्पेक्टर सुल्तान सिंह मौके पर पहुंचे थे। बदमाशों ने फिरौती की रकम वसूलकर डॉ. अग्रवाल को नेशनल हाईवे स्थित सिटी हॉस्पिटल के सामने सर्विस रोड पर छोड़ दिया।

दोबारा फिर मांगे 50 लाख, चार किये नामजद

पुलिस के मुताबिक अपराधियों ने जनवरी में डॉ. अग्रवाल को 50 लाख रुपये की वसूली के लिए फिर फोन किया लेकिन डर के कारण डॉक्टर ने पुलिस को सूचना नहीं दी। पुलिस ने इस मामले में सनी मलिक पुत्र देवेंद्र मलिक निवासी न्यू सैनिक कॉलोनी थाना कंकरखेड़ा मेरठ, महेश पुत्र रघुनाथ निवासी कौलाहार थाना नौहझील मथुरा, अनूप पुत्र जगदीश निवासी कौलाहार थाना नौहझीन मथुरा एवं नितेश उर्फ रीगल निवासी भोपाल मध्य प्रदेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.