पति की मौत के जवान देवर से बीवी के बन गये अवैध संबंध, तो बेटे ने कर डाला ये कांड

0
1278
उत्तर प्रदेश।। यूपी के मथुरा जनपद में एक मां ने पति की हत्या के बाद देवर से अवैध संबंधों में बाधक बने अपने छह वर्षीय अबोध बेटे को केवल इसलिए मार डाला, क्योंकि वह उनके बीच का राज जान गया था। इतना ही नहीं अनुसूचित जाति का होने की वजह से बेटे की हत्या के मुआवजे के तौर वह साढ़े आठ लाख रुपए भी लेना चाहती थी और इसकी पहली किस्त भी ले चुकी थी। महिला इससे पहले अपने पिता की हत्या होने पर सरकार से मुआवजा पा चुकी थी।
इस मामले में मृत बालक प्रिंस की मां ने रंजिशन एक साजिश गढ़ते हुए अपने पारिवारिक विरोधियों को नामजद कर उनमें से एक को जेल भिजवा दिया था तथा अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत मिलने वाली सहायता के लिए आवेदन कर पहली किस्त के रूप में चार लाख रुपए भी सरकार से हासिल कर लिए थे।
एसपी देहात आदित्य कुमार शुक्ला ने गुरुवार को इस पूरे मामले का खुलासा करते हुए बताया कि जब जांच में सभी आरोपी निर्दोष साबित होते दिखे तो नादान बालक की इरादतन हत्या की पहेली को सुलझाने के लिए नए सिरे से जांच कराई गई। तब शक की सुई देवर-भाभी की ओर मुड़ने लगी। जिसे मोबाइल सर्विलांस ने भी काफी पुष्ट कर दिया।
उन्होंने बताया, ‘उनसे सख्ती से पूछताछ की गई तो पूरी कहानी समझ में आ गई। मामले बेहद चौंकाने वाला था क्योंकि, इसी वर्ष पिता को खो चुके बच्चे की मां ने उसे केवल इसलिए मार दिया, क्योंकि वह उसके व चाचा के बीच के संबंधों का राज जान गया था।’
इस मामले की जांच में पुलिस को आरोप सही नहीं मिले। गांव वाले भी पुलिस की थ्योरी को तस्दीक कर रहे थे। गांव में हुई महापंचायत में पुलिस से दुबारा भली प्रकार से जांच कराए जाने की मांग की गई। तब, गहन विवेचना के पश्चात गुड्डी और उसका देवर आकाश ही दोषी निकले। हत्या की साजिश एवं सरकारी रुपए दिलाने में भागीदार राजाबाबू आजाद अभी पुलिस की पकड़ से दूर है। उसकी तलाश जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.