*गर्भपात सेंटर पर छापा, अवैध अल्ट्रासाउंड मशीन सील, महिला समेत चार गिरफ्तार*

0
374
गोरखपुर (एचएम न्यूज)। गोरखपुरके पिपराइच कस्बे में खुलेआम गर्भपात सेंटर संचालित हो रहा था। इस सेंटर में अल्ट्रासाउंड के साथ ही गर्भपात भी कराया जाता। इसका खुलासा शुक्रवार को जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की टीम की संयुक्त छापेमारी में हुआ।
टीम ने मौके से अपंजीकृत अल्ट्रासाउंड मशीन व गर्भपात में प्रयोग किए जाने वाले उपकरणों को सील कर दिया। इतना ही नहीं महिला समेत चार को गिरफ्तार किया है। इस कार्रवाई के बाद हड़कंप मच गया है।
खबर है कि किसी ने डीएम को सूचना दी कि पिपराइच में सीएचसी के पास ब्लॉक रोड पर एक अस्पताल के रूप में गर्भपात सेंटर संचालित हो रहा है। इस सेंटर पर किसी नाम का बोर्ड नहीं है। अंदर महिलाओं का अल्ट्रासाउंड होता है।
यहां कन्या भ्रूण हत्या भी होती है।

दो ज्वाइंट मजिस्ट्रेट की अगुआई में पड़ा छापा

डीएम ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट प्रथमेश कुमार और अनुभव सिंह की अगुआई में टीम बनाई। इसमें एसीएमओ डॉ.एनके पांडेय, सीएचसी के अधीक्षक डॉ.नंदलाल कुशवाहा, केके श्रीवास्तव, पीके श्रीवास्तव,पीसीपीएनडीटी को- आर्डिनेटर मृत्युंजय पाण्डेय व अनिल तिवारी के साथ ही पुलिसकर्मी शामिल रहे।
शुक्रवार को संयुक्त टीम दोपहर में बगैर नाम वाले सेंटर पर पहुंची। सेंटर पर नजारा हैरान करने वाला मिला। 18 गर्भवतियां अल्ट्रासाउंड कराने के लिए कतार में बैठी मिली। एक गर्भवती का कक्ष में अल्ट्रासाउंड होता मिला। अल्ट्रा साउंड करने वाली महिला ने अपना नाम सरोज देवी पत्नी मुन्ना प्रसाद बताया।
वह टीम को अल्ट्रासाउंड मशीन के पंजीकरण का कोई कागज नहीं दिखा सकी। टीम ने सरोज के अलावा वहां मौजूद कर्मचारी शानू और रेनू को हिरासत में ले लिया। सेंटर की तलाशी लेने पर वहां गर्भपात के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले उपकरण , ऑपरेशन के उपकरण , छोटा ओटी टेबुल और बेड मिला। टीम को माजरा समझते देर न लगी। आनन-फानन में मकान मालिक लालमुनी को भी टीम ने हिरासत में ले लिया।

अस्पताल में मिली सरकारी दवाएं

सीएचसी के नजदीक संचालित हो रहे इस अवैध गर्भपात और अल्ट्रासाउंड सेंटर में सरकारी दवाएं भी मिली। टीम को जांच के दौरान कैल्शियम, आयरन और फोलिक एसिड की दवाएं मिली। सभी दवाओं पर सरकारी मुहर लगी है। टीम ने उसे भी सील कर दिया।

महिला समेत चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज

इस कार्रवाई के दौरान वहां हड़कंप मच गया। गर्भवतियों को लेकर पहुंचे तीमारदार भागने लगे। इस दौरान पुलिस को मौके से एक कार मिली है। पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया। जांच टीम की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर महिला समेत चारों को गिरफ्तार कर लिया।

पहले भी पकड़ी जा चुकी है महिला

एसीएमओ ने बताया कि महिला पहले भी अल्ट्रासाउंड करते हुए पकड़ी जा चुकी हैं। उसके विरूद्ध विभागीय मुकदमा भी किया जा चुका है। जमानत पर रिहा होने के बाद वह दोबारा इस धंधे में लग गई।उपजिलाधिकारी ने बताया कि इस तरह की कायर्वाही आगे भी जारी रहेगी।
सीएचसी के नजदीक संचालित हो रहे इस अवैध गर्भपात और अल्ट्रासाउंड सेंटर में सरकारी दवाएं भी मिली। टीम को जांच के दौरान कैल्शियम, आयरन और फोलिक एसिड की दवाएं मिली। सभी दवाओं पर सरकारी मुहर लगी है। टीम ने उसे भी सील कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.