इंसानियत कल्याण सेवा समिति ने एक बार फिर पेश की इंसानियत की मिसाल

0
59
गोरखपुर : किसी ने सच ही कहा है कि जीना तो है उसी का जिसने ये राज जाना, है काम आदमी का औरों के काम आना… वास्तव में यदि देखा जाए तो इन पंक्तियों को सार्थक करने वाले बहुत कम ही लोग मिलेंगे, मगर इंसानियत कल्याण सेवा समिति के राम आशीष यादव के साथ चंद्र शेखर दूबे ने मिलकर गरीबों मज़लूमो के दर्द को सांझा कर ये साबित कर दिखाया है कि इंसानियत आज भी जिन्दा है और जब तक ऐसे लोग रहेंगे तब तक गरीब भूंख से नहीं मरेगा ।
बताते चलें कि जनपद गोरखपुर विकासखंड गगहा ग्राम पंचायत मऊवा बुजुर्ग निवासी महेन्द्र यादव जिनकी हालत लम्बे समय से खराब रहने के चलते घर की जमापूंजी जिंदगी बचाने में खर्च कर दी विगत सप्ताह महेन्द्र की हालत बिगड़ने पर परिवारीजनों ने गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में भर्ती करायाl
जहाँ डॉक्टरों ने बताया की इनका तत्काल आपरेशन किया जाएगा, जिसमे करीब एक लाख रूपये लग सकते हैं परिवार की माली हालत बेहद खराब होने की वजह से निराश परिवार को जब कोई रास्ता नजर नही आया तो उन्होंने इंसानियत कल्याण सेवा समिति के बरिष्ट सहयोगी देबीप्रसाद शुक्ला से सम्पर्क किया और अपनी ब्यथा सुनाईl
जिसे सुनकर देबी प्रसाद शुक्ला की आँखे उमड़ आयी और उन्होंने ये फैसला लिया कि वो हर हाल में इस पीड़ित की मदद करेंगे फिर क्या था उक्त बात को संज्ञान में लेते हुए उन्होंने तत्काल संगठन के सलाहकार चन्द्र शेखर दुबे से विमर्श कर परिस्थिति से अवगत श्री दुबे जी ने मामले को गंभीरता से लिया वह संगठन के वरिष्ठ सहयोगी देवी प्रसाद शुक्ला के द्वारा गरीब पीड़ित परिवार महेंद्र यादव को 25000 रूपये की नगद सहायता राशि प्रदान कराई गई जिसकी पूरे जनपद में भूरि भूरि प्रशंसा हो रही है।

रिपोर्ट : हिन्दमोर्चा टीम गोरखपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.