राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न वादों का निस्तारण 14 को करेंगे न्यायाधीश

0
23
अयोध्या। जनपद न्यायाधीश अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण नीरज निगम की अध्यक्षता में 14 सितंबर को आयोजित की जाने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत के अनुक्रम में 13 को क्लेम पिटिशन एवं पारिवारिक विवादों के अधिक से अधिक वादों के निस्तारण हेतु न्यायिक अधिकारियों अपर जिला न्यायाधीश
प्रथम अशोक कुमार अपर जिला न्यायाधीश द्वितीय हरिनाथ पांडेय प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय रीता कौशिक, अतिरिक्त प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय सत्य प्रकाश , अपर जिला न्यायाधीश चतुर्थ सुरेश चंद आर्य , अपर जिला न्यायाधीश पंचम सतीश कुमार त्रिपाठी, अपर जिला न्यायाधीश छः रविंद्र कुमार द्विवेदी अपर जिला न्यायाधीश सप्तम सुरेश कुमार शर्मा अपर जिला न्यायाधीश अष्टम पूजा सिंह अपर जिला न्यायाधीश नवम असद अहमद हाशमी अपर जिला न्यायाधीश दशम श्रद्धा तिवारी अपर जिला न्यायाधीश एकादश शैलेंद्र वर्मा, अपर जिला न्यायाधीश द्वादश वरुण मोहित, निगम सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सर्वेश कुमार एवं अधिवक्ताओं श्री बब्बन प्रसाद, देव शास्त्री, अजय कुमार श्रीवास्तव, पीयूष रंजन तथा ज्ञानेश चंद्र पांडेय, नंदकिशोर चैधरी सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की उपस्थिति में बैठक आयोजित की गई।
उक्त बैठक में सुलह समझौते हेतु चिन्हित वादों में पक्षकारों के मध्य वार्तालाप कराई गई तथा वादों के निस्तारण हेतु तैयार किया गया। अपर जिला न्यायाधीश ४ सुरेश चंद्र आर्य द्वारा एक प्रति कर वाद अपर जिला नयायाधीश छ द्वारा एक प्रतिकार वाद रविंद्र कुमार दिवेदी अपर जिला नयायाधीश सप्तम सुरेश कुमार शर्मा द्वारा एक प्रतिकार बाद अपर जिला नयायाधीश अष्टम से पूजा सिंह द्वारा एक अपर जनपद न्यायाधीश दशम श्रद्धा तिवारी द्वारा दो प्रतिकर बाद अपर जिला न्यायाधीश 11 श्री शैलेंद्र वर्मा द्वारा दो प्रति कर वाद अपर जिला न्यायाधीश द्वादश वरुण मोहित निगम द्वारा 1 वाद तथा प्रधान न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय श्रीमती रीता कौशिक द्वारा 4 प्रति कर बाद में सुलह वार्ता करके समझौते के लिए तैयार किया गयाl
जिनका सुलह नामा दिनांक 14 सितंबर को दाखिल किया जाएगा। राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक वादों का निस्तारण किए जाने हेतु अपर जनपद न्यायाधीश द्वारा प्रयास किया जा रहा है। राष्ट्रीय लोक अदालत में आपराधिक शमनीय वाद धारा 138 पराक्रम लिखित अधिनियम बैंक वसूली वाद श्रम विवाद वाद विद्युत एवं जल वाद बिल अशमनीय छोड़कर भूमि अधिग्रहण वाद सर्विस मैटर से संबंधित वेतन भत्ता और सेवानिवृत्त लाभ के मामले राजस्व वाद जो जनपद न्यायालय में लंबित हो आदि का निस्तारण किया जाएगा।
सभी वादकारियों से अनुरोध है कि राष्ट्रीय लोक अदालत में अधिक से अधिक संख्या में उपस्थित होकर अपने मुकदमों का निस्तारण करा कर लाभान्वित होे। 14 सितंबर 2019 को आयोजित होने वाली लोक अदालत के अनुक्रम में सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फैजाबाद सर्वेश कुमार मिश्र द्वारा यह कहा गया कि जिला विधिक सेवा प्राधिकरण फैजाबाद जनसामान्य से यह आह्वान करती है कि 14 सितंबर 2019 को आयोजित होने वाली लोक अदालत में लोग बढ़-चढ़कर हिस्सा ले तथा अपने मामलों को सुलह समझौते के आधार पर लोक अदालत में निस्तारित कराएं ।

रिपोर्ट : हिन्दमोर्चा टीम अयोध्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.