उर्मिला सुमन-द-फाउण्डेशन के तत्वाधान में पे बैक टू सोसाइटी कार्यक्रम जारी

0
50

⏺ इस दौरान लोगों ने वृक्षारोपण कर आमजन को किया जागरूक

टांडा ,अम्बेडकरनगर। समाज में आपके परिश्रम से आपको जो स्थान प्राप्त है वह विभिन्न पावदानों पर कहीं न कहीं समाज के योगदान के कारण मिली है। इसलिए समाज का आपके ऊपर ऋण है जिसके लिए आपका सामाजिक उत्तरदायित्व है कि आप अपने समाज को अपना मनी, माइंड, टाइम शेअर करें और समाज के ऋण से उऋण होकर समाज की भलाई कर सकें।
आज समाज के उन्हीं पूर्वजों को याद करते हुए ‘‘पे बैक टू सोसाइटी‘‘ कार्यक्रम का आयोजन आशीर्वाद न्यूरो-साइकियाट्रिक एवं मानसिक चिकित्सा केंद्र व उर्मिला सुमन-द फाउंडेशन के सौजन्य से उच्च प्राथमिक विद्यालय बड़ागांव-जलालपुर में किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए डॉ0 गीतिका वर्मा ने कहा की समाज में लड़के-लड़कियों में भेदभाव नहीं होना चाहिए क्योंकि आने वाला समय लड़कियों का ही है।
इस अवसर पर उर्मिला सुमन-द फाउंडेशन के सचिव राजन सुमन ने पूर्वजों की कृतज्ञता ज्ञापित करनें हेतु पौधरोपण को सबसे बड़ा माध्यम बताया और विद्यालय को पौधा भेंट किया। पूर्व युवा प्रतिनिधि प्रवीण कुमार गुप्ता ने मेडिकल कॉलेज में मनोचिकित्सक असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ0 जे0 के0 वर्मा के इस अनूठे पहल का स्वागत किया और कहा कि वर्तमान भौतिकवाद के जमाने में जिस प्रकार मानवीय मूल्यों का ह्रास हो रहा ऐसे में अपने पूर्वजों को याद करने की पहल वास्तव में अनुकरणीय है।
कार्यक्रम की संयोजनकर्ता सहसमन्वयक श्वेता सिंह ने आभार ज्ञापित करते हुए कहा कि समाज में इस प्रकार के रचनात्मक कार्यों को बढ़ावा मिलना चाहिए। कार्यक्रम का संचालन सहसमन्वयक अमरनाथ शर्मा ने किया।
आशीर्वाद न्यूरो-साइकियाट्रिक एवं मानसिक चिकित्सा केंद्र टांडा रोड पटेल नगर अकबरपुर की ओर से कार्यक्रम में पौधरोपण सहित बच्चों में आधुनिक शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रोजेक्टर व संगीत वाद्य यंत्र बतौर भेंट के साथ बच्चों के लिए स्टेशनरी व पौष्टिक आहार की भी व्यवस्था की गई। इस अभूतपूर्व अवसर पर उर्मिला, वसीम, नुरुल हसन, निशात अहमद, जल्दू, शैलेन्द्र भारती, सीमा श्रीवास्तव, रवींद्र कुमार वर्मा व उर्मिला सुमन-द फाउंडेशन के पंकज व विकास जी उपस्थित रहे।

रिपोर्ट : हिन्दमोर्चा टीम अम्बेडकरनगर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.