मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 80 जोड़ो ने थामा एक दूजे का हाथ

0
44
लखनऊ/ मोहनलालगंज
मोहन लाल गंज विकासखण्ड कार्यालय व गोसाईगंज में लगने वाले गांवो से आये करीब 80 जोड़ो का विवाह बड़ी धूमधाम से सपन्न कराया गया ।  कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि उपजिलाधिकारी सूर्यकांत त्रिपाठी और मोहन लाल गंज ब्लाक प्रमुख श्री मती विजय लक्ष्मी व ब्लाक प्रमुख गोसाईगंज नरेंद्र रावत भी उपस्थित थे । समस्त कार्यक्रम का आयोजन खंड विकास अधिकारी भोलानाथ कनैजिया के कुशल नेतृत्व में सम्पन्न हुआ ।
कार्यक्रम में गोसाईगंज ब्लाक से कुल 26 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे और मोहन लाल गंज से कुल 54 जोड़े विवाह बंधन में बंध एक दूजे के हो गए । कार्यक्रम के दौरान हिन्दू जोड़ो का उनकी रीति रिवाज से व मुस्लिम जोड़ो का उनकी रीति रिवाज से विवाह संपन्न कराया गया । मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत 3 मुस्लिम व 77 हिन्दू जोड़ो का विवाह संपन्न हुआ ।
कार्यक्रम का आयोजन पंचायत अधिकारी कमल किशोर शुक्ला , अवधेश कुमार बाजपेयी , व भोलानाथ कनैजिया और ब्लॉक व तहसील परिसर के सभी अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे । और पशुपालन विभाग कृषि विभाग , श्रम विभाग , सहित करीब करीब सभी विभागों के अधिकारी , व कर्मचारी शामिल थे । और दोनों ब्लॉकों के सचिवो , और ग्राम प्रधनो ने भी कार्यक्रम में शिरकत की ।

सभी ने नव विवाहित जोड़ो को अपना अपना आशीर्वाद भी दिया , और उपहार में 35000 रुपये का चेक सभी दुल्हनों को व , डिनर सेट , सूट केश , और दो कुकर सहित अन्य उपहार नवविवाहित जोड़ो को दिया गया । ब्लॉक प्रमुख विजय लक्ष्मी ने भी नव विवाहित जोड़ो को अपना शुभ आशीष व उपहार दिए ।
वही उपजिलाधिकारी मोहन लाल गंज सूर्यकांत त्रिपाठी ने कहा कि सरकार द्वारा गरीब कन्याओं की शादी कराने के उद्देश्य से यह योजना महत्वपूर्ण है , वही दूसरी तरफ जोड़ो के संग आये उनके परिजन भी मुख्यमंत्री की इस योजना को जमकर सराहा और सरकार की तारीफ करते नही थके ।
गरीब परिवार अपनी अपनी कन्याओं के हाथ पीले होते देख खुशी से फूले नही समाए । वही अपनी अपनी बेटियों को नम आंखों से बिदाई भी की और आशीर्वाद भी दिया , कार्यक्रम में क्षेत्र के दर्जनों जनप्रतिनिधियों ने भी शिरकत कर अपना अपना आशीर्वाद व स्नेह सभी नवविवाहित जोड़ो को दिया ।

अनुराग तिवारी की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.