मुख्यमंत्री जी, आपकी MLA पार्टी की जड़ में डाल रही हैं गरम पानी

0
2318

⏺ सुरक्षित विधान सभा आलापुर क्षेत्रवासियों में इसेे लेकर विरोध के स्वर मुखर

अंबेडकरनगर। सुरक्षित विधान सभा आलापुर की विधायक व उनके परिजनों की कार्यशैली को लेकर क्षेत्रवासियों में विरोध के स्वर मुखर होने लगे हैं जिसे लेकर अब मुख्यमंत्री जी से मामले को संज्ञान में लेने की मांग जोरों पर है।
ज्ञात हो कि सूबे के मुख्यमंत्री द्वारा भ्रष्टाचार को रोकने, आमजन को न्याय दिलाने समेत अन्य व्यवस्थाओं में भले ही पारदर्शिता के लिए तरह-तरह की नियम कानून बनाये जा रहे हैं किन्तु कहीं उसमें प्रशासनिक मशीनरी रोड़ा बनी है तो कहीं जनप्रतिनिधि व पार्टी के नेता। इसकी हकीकत जानने के लिए सुरक्षित विधान सभा क्षेत्र की विधायक अनीता कमल व उनके परिवार काफी हैं।
इन सभी के द्वारा वर्तमान में किये जा रहे कृत्य को लेकर क्षेत्रवासियों में विरोध के स्वर मुखर हैं। ऐसा ही मामला सत्यप्रकाश मिश्र निवासी गोपालपुर पण्डित का सामने आया है जिन्होने हिन्दमोर्चा संवाददाता से आपबीती बताते हुये कहा कि पूर्व भाजपा विधायक त्रिवेणीराम के पुत्र राकेश ने अपनी पत्नी ज्योति के नाम गांव के पास सड़क के किनारे गाटा संख्या-3 में रक्बा लगभग सवा विस्वा बैनामा लिया है जब कि यह भूमि विके्रता पहले ही किसी को बेंच चुका है, यह भूमि इस समय कहीं खाली नहीं है, बावजूद गाटा संख्या-4 जो बीघोे में हंै और पैतृक है।
इस भूमि में जबरिया कब्जा करने को अमादा हैं। उन्होने बताया कि पूर्व विधायक की वधू अनीता इस समय भाजपा की विधायक हैं। राकेश परिवार के हैं इसलिए उनके द्वारा स्थानीय प्रशासन पर दबाव बनाया जा रहा है। बताया कि थानाध्यक्ष जहांगीरगंज से लेकर एसडीएम को प्रार्थना पत्र देकर निष्पक्ष जांच की मांग किया लेकिन मामला सत्ता से जुड़ा होने के चलते सभी हीला हवाली के साथ राकेश के ही मददगार बने है, मजबूर होकर जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्र से मिलकर न्याय की गुहार लगाये हैं, अब देखना है कि न्याय मिलता है कि उन्हे भी स्थानीय प्रशासन गुमराह करेगा।
विधायक व उनके परिवार द्वारा क्षेत्र में अन्य भूमि पर कब्जे के सवाल पर उन्होने कहा कि पूर्व बसपा विधायक व सांसद त्रिभुवन दत्त के नक्से कदम पर विधायक व उनके परिजन चल रहे हैै, लोग नाजायज धन के भूखे हंै जिसकेे लिये हर हथकण्डा अपना रहे है। उन्होने कहा कि इसी का परिणाम है कि संसदीय क्षेत्र सन्तकबीरनगर अन्तर्गत इस विधानसभा में भाजपा को 22 हजार मत से पराजित होना पड़ा है। यही हाल रहा तो विधान सभा 2022 के चुनाव में यहां पार्टी को हार का सामना करना तय होेगा।
कारण कहीं भी क्षेत्र में जाइए तो हर कोई विधायक व उनके परिजनों के कृत्य से आहत है जिनकी जुबान से कभी भी सुना जा सकता है कि ये लोग निजी स्वार्थ में पार्टी की जड़ में गरम पानी डाल रहे है। इसे मुख्यमंत्री जी को स्वतः संज्ञान में लेकर जांच करानी चाहिए जिससे यह पता चल जाय कि हमारे विधायक से कितनी जनता पीड़ित है।

⏺ भूमि पर कब्जे व अन्य मामलेे में क्षेत्रवासियांे के आरोप निराधार-अनीता कमल

उक्त के सम्बंध में विधायक अनीता कमल के मोबाइल 8887151079 पर काल किया गया जिन्होने रिसीव कर बताया कि राकेश द्वारा जो बैनामा लिया गया है, उसी भूमि को कब्जा के लिए प्रयास किया जा रहा हैै किन्तु उसमें सत्यप्रकाश मिश्र व्यवधान उत्पन्न कर रहे हंै, जब कि उन्हे नहीं करना चाहिए, अन्य भूमि पर कब्जे के मामले में उन्होने कहा कि जो भी क्षेत्र के लोग आरोप लगा रहे हंै वह निराधार है, इस विधानसभा के अलावा अन्य मेें मेरेे व परिवार द्वारा कहीं किसी मामले में इस तरह का हस्तक्षेप नहीं किया जा रहा है, हमेशा प्रयास रहता है कि सरकार की मंशा अनुरूप सभी को न्याय दिलाया जाय।

(अगले अंक मंे पढ़िए विधायक द्वारा 2 साल के कार्यकाल में अर्जित नामी, बेनामी सम्पत्तियों का विवरण)

रिपोर्ट : हिन्दमोर्चा टीम अम्बेडकरनगर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.