साहब की मेहरबानी से बिना लाइसेंस चल रहे बिना रजिस्ट्रेशन सैकड़ों मेडिकल स्टोर

0
51
हिन्दमोर्चा संवाददाता घुघली ,महराजगंज।
साहब के मेहरबानी से महराजगंज में बेगैर रजिस्ट्रेशन के सैकड़ों मेडिकल स्टोर चलाया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक पता चला है कि ऐसे ही सैकड़ों हास्पिटल भी बेगैर रजिस्ट्रेशन के फर्जी चलाया जा रहा है नहीं हास्पिटल के डाक्टरों के पास लाइसेंस है और नहीं रजिस्ट्रेशन है। फिर भी धडल्ले से गरीब जनता को गुमराह कर के इलाज के दौरान लूटने का काम किया जारहा है।
यह सभी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की सह पर जिले में तकरीबन300 मेडिकल स्टोर बिना लाइसेंस के फर्जी चलाए जा रहे हैं। इन मेडिकल स्टोरों के मालिकों के पास न तो फार्मासिस्ट की डिग्री है। और नही लाइसेंस किराये की डिग्री से अपने इस गोरखधंधे को वर्षों से बिना किसी भय के धड़ले से संचालित करते हुए गरीब जनता के जीवन के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।
अगर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों कि यदि यही रवैया रहा तो सरकारी स्वास्थ्य केन्द्र की सेवाएं बन्द करनी पडेगी क्षेत्र की गरीब जनता इन फर्जी डाक्टरों द्वारा ईलाज के दौरान मारे जाएंगे
स्वास्थ्य सेवाओ को बेहतर बनाने के लिए केंद्र व प्रदेश सरकार द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा हैं। परन्तु स्वस्थ विभाग के मातहत अधिकारी अपने निजी स्वार्थों के चलते इन व्यवस्थाओं पर पलीता लगा रहे हैं।
इस विभागीय सूत्रों की मानें तो फ्रामसिष्ठ के डिग्री धारक को ही मेडिकल स्टोर खोलने का प्राविधान है परन्तु जनपद में बिना लाइसेंस मेडिकल स्टोर संचालित किया जा रहा है।ऐसे मेडिकल स्टोर पर बिभाग के अधिकारियों की मेहरबानी से बेखौफ होकर संचालन किया जारहा है।
ऐसे मेडिकल स्टोर संचालकों को दवाइयों बारे में बेहतर जानकारी न होने की वजह से उपभोक्ताओं के जीवन से खिलवाड़ किया जा रहा है।सूत्रों द्वारा शिकायत मिलने पर बिभाग अधिकारी जाच कर औपचारिता जरूर पूरा करता है।लेकिन बिना डॉक्टर की पर्ची पर दवा देने का प्राविधान बना हुआ है है।असिस्टेंट के माध्यम से संचालक करते हुए मरीज को उल्टी सीधी दवा देकर उनके जीवन को कर रहे है।
ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ सरकार को चाहिए कि कड़ी से कड़ी कार्रवाई करते हुए डंडित करना आवश्यक है कि भविष्य में किसी मरीज के साथ ऐसी खिलवाड़ न करके ऐसे ही भ्रष्ट अधिकारियों के चलते ही सरकार की छवि खराब होती जारही है।

ब्लाक प्रभारी मनोहर सिंह घुघली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.