अंतिम बड़े मंगल पर भक्तों ने भंडारे में प्रसाद ग्रहण किया

0
51
सलोन।ज्येष्ठ माह के अंतिम बड़े मंगल पर भोर से ही हनुमान मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी।भक्तों ने बजरंगबली का दर्शन-पूजन कर आशीर्वाद लिया।घंटे-घड़ियाल की करतल ध्वनि के बीच बजरंगबली के जयकारों से वातावरण गूंज उठा।
‘लाल देह लाली लसे अरु धरि लाल लंगूर’ व हनुमान चालीसा पाठ के स्वर भी गुंजायमान होते रहे।तेज धूप होने के बावजूद भक्तों का उत्साह कम नहीं हुआ। हनुमत भक्ति के गीतों के बीच दिनभर जगह-जगह भंडारे आयोजित कर प्रसाद वितरण किया जाता रहा। हजारों भक्तों ने भंडारे में प्रसाद गृहण किया।

 

कस्बे से लेकर ग्रामीण अंचलों तक ज्येष्ठ माह के अंतिम बड़े मंगल पर हनुमत स्तुति की धूम रही।सलोन कस्बे में गनपत गली और रामलीला रोड पर श्रद्धालुओं ने भंडारे का आयोजन कराया।जबकि परशदेपुर रोड पर बाबा बर्फानी सेवा समिति द्वारा भण्डारे आयोजन किया गया।
इस मौके पर भक्तों ने हनुमान चालीसा व सुंदरकांड का पाठ किया तो कुछ भक्तों ने फूल-माला व प्रसाद अर्पित कर जयकारे लगाए।भक्तों ने स्टॉल लगाकर सब्जी-पूड़ी, छोला-चावल, हलुवा, शबरत बांटा।

रिपोर्ट : अजीत प्रताप सिंह

=========================================

चहलारी नरेश राजा बलभद्र सिंह की जयंती जयंती पर कार्यक्रम

चहलारी नरेश राजा बलभद्र सिंह की जयंती जयंती पर कार्यक्रम सेनानी भवन के मीटिंग हॉल में संपन्न किया गया इस मौके पर सेनानी उत्तराधिकारी संगठन के महामंत्री रमेश ,मिश्रा भगवानबक्श सिंह सेंगर चलारी नरेश के उत्तराधिकारी का वंशज आदित्य सिंह मुकेश श्रीवास्तव चौधरी बिरेंदर वाल्मीकि और बहराइच विकास मंच के अध्यक्ष हर्षित त्रिपाठी आदि लोग मौजूद रहे कार्यक्रम में राजा बलभद्र सिंह को शत शत नमन कर सभी लोगों ने फूल माला पहनाकर उनको याद किया गया राजा बलभद्र सिंह का जन्म 10 जून 1858 को ग्राम मुरौवा चलारी क्षेत्र के तहसील महासी जनपद बहराइच में हुआ था राजा बलवंत सिंह की वीर गाथा कई ग्रंथों किताबों में पाई जाती.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.