मुकुट बिहारी की हार को लेकर अब जनमानस में उठने लगे हैं सवाल

0
265

⏺ किन-किन मौसमी नेताओं ने निभायी जयचंद की भूमिका की खबर अगले अंक में  

अंबेडकरनगर। 55 लोकसभा अंबेडकरनगर सीट से भाजपा प्रत्याशी के चुनाव हारने को लेकर जनमानस में तरह-तरह के सवाल उठ रहे है। कोई प्रत्याशी चयन तो कोई पार्टी के नेताओं की गतविधियांे का आरोप लगा रहा है। वैसे हिन्दमोर्चा पत्रिका व बेवपोर्टल पर इससे सम्बंधित कई खबरे प्रमुखता से प्रकाशित भी गयी है किन्तु पार्टी नेतृत्व द्वारा संज्ञान नहीं लिया गया।

ज्ञात हो कि लोकसभा चुनाव में देश में मोदी की विश्वसनियता के चलते आधे से अधिक सीटों पर भाजपा का परचम लहराया है किन्तु अंबेडकरनगर सीट जो आजादी के बाद पहली बार 2014 में पार्टी को मिली थी इस बार यह भी हाथ से निकल गयी ।

जिसमें नेतृत्व द्वारा प्रत्याशी चयन की जहां चर्चा है वहीं मुकुट बिहारी के इर्द-गिर्द रहने वाले जिला संगठन के मौसमी नेताओं को लोग जिम्मेदार ठहरा रहे हैंे।

बृहस्पतिवार को मुकुट बिहारी के पक्ष में परिणाम न आने से अब लोगों में सवाल उठने लगे हैं कि जब निष्ठावान पार्टी के कार्यकर्ता दल बदलुओें के खिलाफ आवाज उठाते रहे तो क्यों नहीं संगठन महामंत्री सुनील बंसल व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितशाह जी संज्ञान लिये।

रही सही कसर को अवध क्षेत्र से हटाये गये पूर्व संगठन मंत्री बृज बहादुर ने पूरी कर दी। मुकुट बिहारी टिकट पाते ही बृज बहादुर को चुनाव संचालन की पूरी कमान यह कहते हुये सौंप दिये कि भाई साहब जो आप ने मुझसे कहां था वह हमने कर दिया,

अब आप कमान संभालिए फिर क्या था मौसमी और दल बदलुओं की भाजपा में पूंछ बढ़ गयी और वे काम तो गठबंधन के लिए करते थे लेकिन मुकुट बिहारी के आस-पास उन्ही का जबरदस्त घेरा बन गया जिसे लेकर तरह-तरह की चर्चाएं भगवा खेमे और जनता के बीच शुरू हो चुकी है।

हालाकि इससे जुड़े मामले को लेकर इस बेवपोर्टल पर खबरे प्रकाशित हो चुकी हंै।

(अब पार्टी प्रत्याशी की हार में कौन-कौन दोषी है, अगले अंकों में पढ़िए किन-किन महानुभावों ने निभायी है जयचंद की भूमिका।)  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.