इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट मुआवजे के लिए सैकड़ों किसानों नें किया प्रदर्शन

0
46
इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट मुआवजे के लिए सैकड़ों किसानों नें किया प्रदर्शन
सोनौली/जनपद महराजगंज के भारत-नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर बनने वाले इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट भूमि अधिग्रहण में मुआवजे से असंतुष्ट सैकड़ों किसानों ने अपने उपजाऊ भूमि पर पहुंच कर जबरदस्त प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान किसानों ने एक स्वर में कहा कि हम अपनी जान दे देंगे, लेकिन कम कीमत पर जमीन नहीं देंगे।
बता दें की इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य शुरू करने का कवायद तेज हो गया है। जिसको लेकर किसान भूमि की कम कीमत मिलने के कारण संघर्ष के निर्णायक भूमिका में नजर आ रहे हैं।
इसी क्रम में आज शनिवार को सोनौली कोतवाली क्षेत्र के वार्ड नंबर 5 गौतम बुद्ध नगर(टोला) फरेनवा पर सैकड़ों की संख्या में किसानों ने एकत्रित होकर सांकेतिक प्रदर्शन किया,किसानों ने कहा की सरकार हमारे साथ पक्षपात पूर्ण रवैया अपना रही है। बार्डर डेवलपमेंट योजना के तहत बन रही सड़क का मुआवजा जिस दर पर दिया गया है,उसी दर पर हमें मुआवजा मिलना चाहिए। लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है। जबकि वर्तमान में 42 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर मुवाजा दे रहे हैं जो सरासर अनुचित है।
वहीं किसानो का नेतृत्व करते हुए युवा समाजसेवी एवं समाजवादी पार्टी के लोहिया वाहिनी के जिला उपाध्यक्ष बैजू यादव ने पत्रकारों से कहा कि सरकार किसानों को धमका कर फसली सिंचित भूमि मात्र सत्रह लाख रुपए प्रति एकड़ की दर से खरीद कर किसानों के अधिकारों पर डाका डालना चाहती है। जबकि यहां जमीन लगभग डेढ़ से दो करोड रुपए प्रति एकड़ बिक रहा है। हम किसान किसी भी दशा में इस रेट पर अपनी भूमि इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट के लिए नहीं देंगे।
इस मौके पर मुख्य रूप से प्रेम सिंह, छेदी यादव, इंतजार हुसैन, रामआसरे प्रजापति, रामप्रीत विश्वकर्मा, रफीक अहमद, मुनव्वर अली, शमशाद अली, रामायन यादव, ठागे यादव, जोखन प्रसाद,रमेश विश्वकर्मा सहित सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.