Dussehra 2020 : लखनऊ में नवरात्रि के मौके पर आज से डिजिटल रामलीला का होगा शुभारंभ, 25 को जलेगा कोरोना का रावण

0
70
लखनऊ, (HM NEWS)- Dussehra 2020 : कोरोना संक्रमण काल में रामलीला आयोजन समितियों की ओर से ऑनलाइन प्रसारण की तैयारी की जा रही है। ऐशबाग की ऐतिहासिक रामलीला इसबार मैदान के बजाय श्रीराम भवन में होगी तो चार घंटे की सीमित रामलीला का प्रसारण सोशल मीडिया के माध्यम से घरों तक किया जाएगा। श्रीरामोत्सव समिति के संयोजक आदित्य द्विवेदी ने गुरुवार को बताया कि शहर की सबसे पुरानी ऐशबाग की रामलीला परंपरागत रूप में मंचित नहीं होगी, लेकिन क्रम बनाए रखने के लिए हाल में मंचन होगा।
चार घंटे के मंचन का प्रसारण ऑनलाइन किया जाएगा। समिति के अध्यक्ष हरीश चंद्र अग्रवाल ने बताया मैदान में परंपरागत मंचन इस बार नहीं होगा। लेकिन सभागार में स्थानीय 25-30 कलाकार और कोलकाता के दो कलाकारों की मदद से दो घंटे का मंचन होगा।
शाम पांच बजे से सात बजे तक इसका प्रसारण रामलीला समिति ऐशबाग की वेबसाइट, यूट्यूब चैनल और फेसबुक पेज पर किया जाएगा। गोस्वामी तुलसी दास ने 400 साल पहले शुरू की थी रामलीला। कोरोना संक्रमण को रोकने के प्रतीक रावण के पुतले का दहन 25 को किया जाएगा। मेला भी नहीं लगेगा। मुख्य अतिथि और समिति के पदाधिकारियों की मौजूदगी में आतिशबाजी के साथ पुतला दहन होगा।
भजन के साथ शुरू होगी राजाजीपुरम रामलीला
राजाजीपुरम में पोस्टल मैदान में रामलीला का मंचन खुले मैदान में होगा। संयोजक सतीश अग्निहोत्री ने बताया कि 17 को हवन पूजन और भजन संध्या के उपरांत मंचन शुरू होगा। रावण दहन नहीं होगा। कोरोना संक्रमण को रोकने के इंतजाम के साथ 200 को रामलीला देखने की अनुमति होगी। मौसमगंज की रामलीला का मंचन भी नहीं होगा। निर्देशक शिव कुमार ने बताया कि दो मंचों पर होने वाली अपनी तरह की ऐतिहासिक रामलीला इस बार नहीं होगी। कोरोना संक्रमण के चलते सिर्फ मंच पूजन होगा।
सदर की ऐतिहासिक रामलीला गेस्ट हाउस में होगी। संयोजक आनंद तिवारी ने बताया कि सीमित दर्शकों की मौजूदगी में मंचन किया जाएगा। कानपुर रोड एलडीए कॉलोनी सेक्टर एल में होने वाली रामलीला का मंचन भी नहीं होगा।आलमबाग के जितेंद्र तिवारी ने बताया कि मंचन को लेकर मंथन हो रहा है। हर दिन आरती करने की तैयारी की जा रही है। चौक के नेपाली कोठी में होन वाली रामलीला नहीं होगी। यहां श्रीमद्भागवत कथा होगी।
नहीं सुनाई पड़ेंगे संवाद
कोरोना संक्रमण काल के चलते रामलीला के संवाद नहीं सुनाई पड़ेंगे। न तो राम बरात निकलेगी और न ही भरत मिलाप का हृदय विदारक दृश्य ही नजर आएगा। न तो राम और न ही रावण के किरदार नजर आएंगे। दिखेगा तो बस डिजिटल रंग। सुरक्षा कारणों से कलाकारों ने भी अपने अभिनय का प्रदर्शन न करने का फैसला लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.