विधानसभा चुनाव का शुरू संग्राम: 23 अक्टूबर से बिहार मिशन पर PM मोदी, ताबड़तोड़ करेंगे 12 रैलियां

0
22
नई दिल्ली/पटना, (Agency)- बिहार में विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) के लिए 28 अक्टूबर को पहले चरण की वोटिंग है. इससे पहले  बीजेपी जेडीयू (BJP-JDU Alliance) ने प्रचार अभियान तेज कर दिया है, इसी कड़ी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) जल्द ही चुनावी रैली में उतरने जा रहे हैं, बीजेपी की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री प्रदेश में 12 रैलियों को संबोधित करेंगे, पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, वीआईपी और हम पार्टी के वरिष्ठ नेता भी शामिल होंगे, पीएम मोदी की पहली रैली 23 अक्टूबर को सासाराम में होगी।

पीएम मोदी की रैलियों का पूरा शेड्यूल:

बिहार में पहले चरण के मतदान से पहले पीएम मोदी 23 अक्टूबर को सासाराम में रैली को संबोधित करेंगे. पहले ही दिन पीएम और सीएम गया और भागलपुर में भी क्रमश: दूसरी और तीसरी रैली को संबोधित करेंगे. 28 अक्टूबर को पीएम दूसरी बार बिहार में चुनावी रैलियों को संबोधित करने आएंगे. दरभंगा में पहली रैली करेंगे. उसके बाद पटना जिले में ही दो अन्य रैलियां हैं।
फिर 1 नवंबर को पीएम मोदी और सीएम नीतीश कुमार पहले छपरा फिर पूर्वी चंपारण और समस्तीपुर में चुनावी सभाओं को संबोधित करेंगे.,चौथी बार में प्रधानमंत्री 3 नवंबर को रैली करने आएंगे. उस दिन पश्चिमी चंपारण, सहरसा और अररिया में सीएम के साथ सभा को संबोधित करेंगे।

नीतीश सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी

इससे पहले बिहार एनडीए द्वारा एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीतीश सरकार का रिपोर्ट कार्ड जारी किया गया. पटना के एक होटल में आयोजित इस कार्यक्रम में बीजेपी और जेडीयू के अलावा दो अन्य सहयोगी दल (हम और वीआईपी) के नेता भी मंच पर मौजूद थे. इसमें बिहार में केंद्र और राज्य सरकार द्वारा जो काम किया गए हैं उसका उल्लेख किया गया है।
बिहार के चुनाव के मुद्दे स्पष्ट हैं- रविशंकर प्रसाद
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि बिहार के चुनाव के मुद्दे स्पष्ट हैं. हमारी सोच के केंद्र में बिहार का विकास है. एक तरफ़ जनता के विकास की भागीदारी की सोच, दूसरी तरफ़ परिवार के जागीर के विस्तार की सोच है. वे लोग अपने परिवार के विरासत की तस्वीर भी लगाने से परहेज़ कर रहे हैं. वो अगर विरासत की तस्वीर लगाएंगे तो उन्हें अपहरण, हत्या, घोटाले और लूट की याद आएगी. इसलिए उन्हें अपनी ही विरासत से परहेज़ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.