थानाध्यक्ष और अन्य पुलिसकर्मियों की उपस्थिति में विवाहित युवती की थाने में प्रेमी से करवाई शादी, थानाध्यक्ष समेत 15 लोगों का कटा चालान

0
291
चंदौली (HM News). उत्‍तर प्रदेश के चंदौली जिले के अलीनगर महिला थाने (Alinagar Mahila Police Station) में बुधवार को एक ऐसा अनोखा नजारा सामने आया, जहां पहले से शादीशुदा युवती का विवाह (Marriage) एक युवक से महिला थानाध्यक्ष और अन्य पुलिसकर्मियों की उपस्थिति में थाना परिसर में करवा दिया गया. वहीं, उस विवाहित महिला का पति असहाय होकर पूरे घटनाक्रम को टुकुर टुकुर देखता रहा.
उसका आरोप था कि जब उसने इसका प्रतिवाद करना चाहा तो पुलिस ने उसे भगा दिया. यही नहीं, इस विवाह को कराने में पूरी तरह से मशगूल रही महिला थानाध्यक्ष सोशल डिस्टेसिंग को भी भूल बैठीं, जिसका प्रतिफल उन्हें उस समय भुगतना जब अलीनगर थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह (Santosh Kumar Singh) ने महिला थानाध्यक्ष और वर वधू सहित 15 लोगों का चालान काट दिया.

ये पूरा मामला

आरोपी के अनुसार, दुल्हीपुर निवासी उक्त महिला का विवाह शहाबगंज थानाक्षेत्र के जमोखर गांव में हुआ था. पहले पति से महिला को दो बच्चे भी हैं. उधर, महिला का अपने से काफी छोटे एक युवक से लगभग चार साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था. जबकि बुधवार को महिला थानाध्यक्ष शशि सिंह की मौजूदगी में थाना परिसर स्थित मंदिर में चार साल से चल रहे प्रेम प्रसंग को परवान चढ़ाया गया है.
आपको बता दें कि मुगलसराय कोतवाली के दुल्हीपुर क्षेत्र की रहने वाली विवाहित युवती जिसका गोधना गांव में ननिहाल में था, उसका अपने ही ननिहाल के एक युवक से करीब चार वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था, जिसको लेकर दोनों परिवारों में काफी अनबन भी हुई और मामला महिला थाने तक पहुंच गया.

थानाध्यक्ष शशि सिंह के प्रयास से हुआ विवाह

थानाध्यक्ष शशि सिंह ने काफी प्रयास के बाद दोनों पक्षों को समझा बुझाकर बुधवार को प्रेमी जोड़े को मंदिर में भगवान के समक्ष एक कर दिया. जबकि इस विवाह के साक्षी बने तमाम पुलिसकर्मियों और दोनों पक्षों के लोगों वर-वधू को आशीर्वाद दिया.
यही नहीं, विवाहिता का पूर्व पति और ससुर इस घटनाक्रम को मूकदर्शक बन कर देखते रहे. ससुर व पति का आरोप है कि जब उन्होंने विवाह का विरोध करना चाहा तो पुलिस ने उन्हें गाली गलौज कर भगा दिया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.