6 महीनों बाद सिनेमा हॉल में दिखेगी रौनक, खास इंतजामों के साथ दर्शकों को मानने होंगे नियम

0
95
नई दिल्ली, (Agency)_पूरे छह महीने बाद बृहस्पतिवार से दिल्ली में सिनेमा हॉल पर पुरानी रौनक देखने को मिलेगी। बृहस्पतिवार से सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स और थियेटर खोले जा रहे। दिल्ली के मुख्य सचिव विजय देव ने दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की ओर से इस बाबत आदेश जारी कर चुके हैं, जिसके बाद बृहस्पतिवार से इस पर अमल होने जा रहा है।  बता दें कि दिल्ली में 127 सिनेमा हॉल और थियेटर हैं, जबकि 27 मल्टीप्लेक्स हैं। दिल्ली में लॉकडाउन के पहले रोजाना औसतन 50,357 लोग सिनेमा देखते थे।
50 फीसद झमता के साथ खुलेंगे सिनेमा हॉल
दिल्ली सरकार द्वारा आदेश के मुताबिक, शहर में सिनेमा हॉल अपनी क्षमता के 50 फीसद सीटों के साथ खोले जा रहे हैं। इसका मकसद लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाना भी है, इसलिए सिनेमा हॉल में आधी सीटें खाली रहेंगी और आधी पर ही दर्शक बैठकर फिल्म देख सकेंगे।
यही स्थिति थिएटर हॉल की भी रहेगी। 50 फीसद सीटों के साथ नाट्य मंचन हो सकेगा। यह सभी छूट सिर्फ कंटेनमेंट जोन के बाहर ही लागू होंगी। स्पा, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, स्कूल, कॉलेज पर प्रतिबंध रहेगा। इसके अलावा दिल्ली के तीनों अंतरराज्यीय बस अड्डे भी अभी बंद ही रहेंगे।
यहां जानिये- पूरी गाइडलाइन
केंद्र सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा जारी कोविड-19 के प्रसार को रोकने के उपायों पर फिल्मों के प्रदर्शन के लिए जारी एसओपी का कड़ाई से पालन करना होगा।
  • जिन सीटों को मोड़ा नहीं जा सकता है, उनके ऊपर क्रॉस का निशाना लगाना होगा।
  • फिल्म देखने के लिए टिकट खरीदने की पूरी व्यवस्था ऑनलाइन होगी।
  • दर्शकों की सुविधा के मुताबिक, एसी की तकनीकी प्रणाली में बदलाव करना होगा।
  • प्रवेश-निकास द्वार, सीट और लॉबी को समय-समय पर साफ करना होगा।
  • सिनेमा हॉल को प्रत्येक शो के बाद साफ करना होगा।
  • सिनेमा हॉल में प्रत्येक व्यक्ति को मास्क पहन कर रहना होगा और दर्शकों को सैनिटाइजर देना होगा।
  • प्रत्येक शो के बाद पूरे हॉल को सैनिटाइज करना होगा।
  • दर्शकों को मोबाइल पर आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना होगा।
  • फिल्म देखते समय खाने-पीने की वस्तुओं पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।
  • सिनेमाघरों में दर्शकों को एक-एक सीट छोड़कर बैठाने का इंतजाम करना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.