ओजोन परत पर एक्शन एड इण्डिया द्वारा किया गया पौधारोपण, लोगों को दी जागरूकता की प्रेरणा

0
48
(हिन्दमोर्चा), महराजगंज-  उत्तर प्रदेश के महराजगंज जिले में पर्यावरण प्रदूषण का होना आज के समय में एक गंभीर समस्या बन गया है। ओजोन परत दिन-प्रतिदिन पतली होती जा रही है। सूर्य की पैराबैंगनी किरणें ग्लोबल वार्मिग को पूरी तरह से प्रभावित कर रही हैं। अगर इसे रोका नहीं गया तो आने वाली पीढि़यों के लिए जल व थल की भी कमी पड़ जाएगी।
 वायुमंडल में आजोन परत की चौड़ाई 16 से 20 किलोमीटर होनी चाहिए। ओजोन परत पृथ्वी के लिए कंबल की तरह कार्य करती है। ओजोन परत पडे़ प्रभाव की वजह से ग्लेशियर पिघलते जा रहे हैं। अगर ऐसे ही ग्लेशियर पिघलते रहे तो समुद्र तट के साथ लगती भूमि डूब जाएगी और आने वाली पीढि़यों के लिए जल व भूमि का संकट पैदा हो जाएगा।
ओजोन परत में कई जगह छिद्र हाने से सूर्य की किरणों की लघु तरंगें सीधी धरती पर पड़ेंगी और इससे त्वचा रोग व कैंसर जैसे घातक रोग उत्पन्न होंगे। पर्यावरण में प्रदूषण अधिक होने से ओजोन परत पतली होती जा रही है। हिमनद पिघल रहे हैं और बर्फ पिघल कर समुद्र में मिलते जा रहे हैं। इस पर चिंता करते  हुए एक्शनएड के समन्वयक उपेन्द्र शुक्ला ने नदी अधिकार अभियान के सदस्यों वह जल साथी गणेश, अतिउल्लाह, गुड्डू, समसुल निशा,  पिंटू के साथ गेड़हवा गांव में पौधे लगाकर पर्यावरण को सुरक्षित रखने का संकल्प लिया और यह संदेश दिया कि पर्यावरण संरक्षण के लिए हर व्यक्ति को अधिक से अधिक पौधे लगाने चाहिएं।

Read also-अभियंता संतोष कुमार शर्मा को मोहर्रम कमेटी द्वारा प्रशंसा पत्र और मोमेंटो देकर किया गया सम्मानित

बिशेष संवाददाता शत्रुघ्न कुमार पाण्डेय।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.