कोख के सौदागर: बेटे गायब…बेटियों का सौदा, सरगना नीलम को लेकर चौंकाने वाला खुलासा

0
256
आगरा (HM News)l कोख के सौदागरों को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। आगरा पुलिस के नोटिस पर फरीदाबाद से आए तीन डॉक्टरों ने शुक्रवार को अपने बयान दर्ज कराए। उन्होंने पुलिस को बताया कि गैंग की स्थानीय सरगना नीलम ने मई में कई महिलाओं की डिलीवरी कराई थी। इनमें दो लड़के और तीन लड़कियां पैदा हुईं। तीन लड़कियां बरामद हो गईं, लेकिन दो लड़के कहां गायब हो गए ? जबकि एक की मां आरोपियों के साथ पकड़ी गई थी।
शुक्रवार को दोपहर फरीदाबाद के सेक्टर 86 स्थित गेटवेल मेडी सेंटर से डॉक्टर दीपा सेठिया, सेक्टर 31 स्थित धर्मा देवी हॉस्पिटल से डॉ. शैलेंद्र पाराशर और सेक्टर तीन में क्लीनिक संचालित करने वाली डॉ नुपुर फतेहाबाद थाने पहुंचीं। सभी ने अपने बयान दर्ज कराए। एसपी आरए प्रमोद कुमार का कहना है कि प्राथमिक पूछताछ में चिकित्सकों की संलिप्तता सामने नहीं आई है। जांच की जा रही है। उनके दस्तावेज लिए गए हैं।
डॉक्टरों के बयान होने के बाद सीओ फतेहाबाद विकास जायसवाल आरोपियों से पूछताछ करने जेल पहुंच गए। उन्होंने बताया कि जल्द ही नीलम, रूबी और अमित को रिमांड पर लेने को कोर्ट में प्रार्थना पत्र दिया जाएगा, जिससे गैंग के बारे में और जानकारी मिल सके। नीलम से नेपाल की रहने वाली गैंग की मुख्य सरगना अस्मिता के बारे में भी जानकारी ली जाएगी।
सीओ फतेहाबाद ने बताया कि अब तक की जांच में सामने आया है कि गैंग की स्थानीय सरगना नीलम ने मई में कई महिलाओं की डिलीवरी कराई थी। इनमें दो लड़के और तीन लड़कियां पैदा हुईं। तीन लड़कियां आगरा में बरामद हो गईं। दो लड़कों और कमला देवी की तलाश की जा रही है। रूबी के बेटा पैदा हुआ था, जबकि जब वो पकड़ी गई तो उसके पास से बेटी मिली थी। उसका बेटा कहां है? इस बारे में आरोपियों से पूछताछ की जाएगी। 
डॉ. नुपुर ने बताया कि 19 मई को नीलम और अमित रूबी और कमला देवी को लेकर उनके पास आए थे। उनसे प्रसव कराने को कहा था। डॉ. नुपुर गर्भवती थीं। इसलिए उन्होंने महिलाओं को डॉ. दीपा सेठिया के पास भेज दिया। इससे ज्यादा कोई जानकारी नहीं है। डॉ. दीपा सेठिया ने बयान में कहा कि वो महिलाओं को नहीं जानती थीं। दोनों गर्भवती महिलाओं का कोविड टेस्ट कराया। निगेटिव रिपोर्ट आने पर उनका प्रसव कराया गया था।
फतेहाबाद क्षेत्र में लखनऊ एक्सप्रेस वे पर 19 जून को पुलिस ने दो गाड़ियों से दो महिलाओं, तीन युवकों को गिरफ्तार किया था। इनसे तीन बच्चियां बरामद हुई थीं। पूछताछ में मामला अवैध रूप से सरोगेसी कराने औरबच्चों को बेचने का निकला था। आरोपी फरीदाबाद के धीरज नगर निवासी नीलम, रूबी, प्रदीप कुमार, राहुल और दिल्ली के हरी नगर निवासी अमित जेल में हैं। पूछताछ में फरीदाबाद के डॉक्टरों के नाम सामने आए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.