गाजीपुर के भैरोपुर गांव में विगत शनिवार की रात, दलितों के घर में घुसकर हुआ खुनी हमला अब राजनीति और पुलिस की गलबहियाँ के भेंट चढ़ने को आतुर

0
146
Lucknow (HM News)I  जिला गाजीपुर के भैरोपुर गांव में विगत शनिवार की रात, दलितों के घर में घुसकर हुआ खुनी हमला अब राजनीति और पुलिस की गलबहियाँ के भेंट चढ़ने को आतुर हो रहा है ।
गौरतलब है कि, भैरोपुर गांव में एक छोटी सी कहा-सुनी उस वक्त खूनी हमले में तब्दील हो गई, जब गांव में तकरीबन 400 की जनसंख्या वाले राजभर बिरादरी ने अपने अहम का मुद्दा बनाकर तकरीबन 5-7 घर वाले खरवारों जिनकी आबादी बमुश्किल 40 से 50 की होगी । पर रात 10-11 बजे के आस-पास , लाठी, डंडे, लोहे की राड, इत्यादि शायद कुछ देशी असलहे भी थे, जिसकी पुष्टि नहीं हो सकी, लेकर खरवारों के घर में घुस गए, और जो भी स्त्री, पुरुष, बच्चे, मिले उनपर जानलेवा हमला बोल दिया ।
पीड़ितों के अनुसार माल असबाब की लूटपाट भी की । जिसपर पुलिस ने कई गंभीर धाराओं के साथ, एससी-एसटी एक्ट 31 (1) (द)(ध) के तहत आपराधिक मामला भी दर्ज किया!
संभवतः ये कहा-सुनी का मामला इतना गंभीर नहीं होता, अगर राजभर बिरादरी में से रामाशंकर राजभर अपनी प्रतिष्ठा का प्रश्न नहीं बना लेता ।
दरअसल रामाशंकर बसपा सरकार में बीज विकास निगम में सदस्य की हैसियत से कुछ समय के लिए राजनैतिक रसूख का दिदार कर चुका था, और इसी रसूख की मानसिकता से प्रतिष्ठा का प्रश्न बना कर अपने सहयोगियों समेत खरवारों पर घातक हमला करने के लिए उतारू हो उठा ।
यहां पर यह भी बहुत दिलचस्प कहानी है कि, रामाशंकर राजभर ने अपने एक अदने से राजनैतिक पदवी को स्थानीय लोगों में मंत्री का पद कहकर प्रचारित करने लगा । बाद में पर्व मंत्री तो होना ही था । सो, इस घटना के बाद स्थानीय मीडिया में अपनी मिलीभगत से,खबरों को पूर्व मंत्री के पदनाम से प्रकाशित करवाकर स्थानीय पुलिस को अर्दब में लेने में कामयाब हो गया है ।
इस प्रयास में देश के एक बड़े अखबार के स्थानीय प्रतिनिधि की मुख्य आरोपी के साथ गलबहियाँ खासी चर्चित हो रही है । उस प्रतिनिधि ने भी पूर्व मंत्री की यथास्थिति की वास्तविकता को परखने की कोशिश नहीं की, या जानबूझकर पूर्व मंत्री के नाम से खबर लगाकर आरोपी की नेपथ्य से सहायता की। नतीजतन थानाध्यक्ष बिरनो सलिल स्वरूप आदर्श अब मुख्य आरोपी को गिरफ्तार करने से कतराने लगे हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.