शादी के तीन माह बाद महिला सिपाही ने फांसी लगा दी जान, सुसाइड नोट में लिखी में ये बात

0
1686
औरैया (HM News)। बिधूना कोतवाली में तैनात महिला सिपाही ने फांसी लगाकर खुदकशी कर ली, सुबह कमरे में उनका शव फंदे पर लटका मिला तो सनसनी फैल गई। पुलिस अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर छानबीन की तो सुसाइड नोट मिला है। पुलिस सुसाइड नोट के आधार पर खुदकशी की वजह पता लगा रही है।
बागपत जिले के लतीफनगर निवासी राजेंद्र गिरी की 28 वर्षीय पुत्री शालू की बीते वर्ष पुलिस में भर्ती हुई थी। पुलिस ट्रेनिंग पूरी करने के बाद बीते दिसंबर माह में उनकी पहली तैनाती जनपद औरैया के बिधूना कोतवाली में हुई थी। फरवरी में शालू की शादी फिरोजाबाद में शिक्षक राहुल से हुई थी। शालू बिधूना कोतवाली के पास ही किशोर गंज मोहल्ले में किराए का कमरा लेकर रह रही थी।
शालू जिस मकान में कमरा किराए पर लेकर रह रही थी, उसके मकान मालिक रविवार को पत्नी के साथ किसी काम से कानपुर गए थे। सोमवार की रात घर पर कोई भी नहीं था। रात में शालू ने अपनी बहन लखनऊ पुलिस विभाग में तैनात स्वाति से मोबाइल फोन पर बात की थी।
उसकी बहकी बातों से घबराई स्वाति ने मंगलवार सुबह कोतवाली में फोन करके सूचना दी तो पुलिस कर्मी कमरें पर पहुंच गए। कमरे में शालू का शव फांसी पर लटका देखकर सभी सन्न रह गए। सूचना पर एएसपी कमलेश दीक्षित और सीओ मुकेश कुमार भी पहुंच गए। पुलिस ने कमरे की तलाशी ली तो एक सुसाइड नोट मिला।
लखनऊ में तैनात बड़ी बहन स्वाति औरैया के लिए निकल चुकी है। उन्होंने फोन पर पुलिस को बताया कि रात में बातचीत के दौरान शालू बहकी बहकी बातें कर रही थी। वह कह रही थी कि जिंदगी से बहुत परेशान हो चुकी और अब वह जीना नहीं चाहती है।
इसपर वह उसे काफी देर तक समझाने का प्रयास करती रही और फिर फोन काट दिया। इसके बाद वह रात में कई बार शालू को कॉल करती रही लेकिन उसका फोन नहीं उठा। इसपर सुबह उसने कोतवाली पर सूचना दी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.